schools in Jammu and Kashmir will be named after martyrs

schools in Jammu and Kashmir will be named after martyrs: केंद्र की मोदी सरकार और जम्मू कश्मीर प्रशासन ने जम्मू-कश्मीर के हित में एक बड़ा फैसला लेते हुए वहां के स्कूलों के नाम अब शहीदों के नाम पर रखने का फैसला किया है। सरकार ने ये फैसला देश के शहीदों को याद करने और उनकी सहादत को लोगो तक पहुंचने के लिए ये कदम उठाया है। सरकार के इस कदम का जम्मू कश्मीर के लोगो ने स्वागत किया है। सरकार ने कठुआ के सरकारी स्कूल का नाम बदलकर शहीद सिपाही बुआ दित्ता सिंह स्कूल कर इसकी शुरुआत की।

 

शहीदों के नाम पर होंगे जम्मू-कश्मीर के स्कूलों के नाम

schools in Jammu and Kashmir will be named after martyrs:

जम्मू-कश्मीर प्रशासन की ओर से एक आदेश जारी किया गया है। जम्मू कश्मीर प्रशासन ने एक ऐतिहासिक फैसला लेते हुए इन केंद्र शासित प्रदेश के स्कूलों के नाम अब शहीद सेना, सीआरपीएफ और पुलिस के जवान के नाम पर किये जाने का निर्णय लिया है। सरकार ने कहा की ये नाम उन शहीदों के प्रति सम्मान और श्रद्धांजलि का प्रतीक है जिन्होंने कर्तव्य और देश प्रेम की खातिर अपना सब कुछ मातृभूमि पर कुर्बान कर दिया।

 

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने जिलों से मांगी लिस्ट!

बीते 6 अगस्त को जम्मू के डिवीजनल कमिश्नर ने जम्मू, डोडा, रियासी, पुंछ, राजौरी, कठुआ, सांबा, रामबन, किश्तवाड़ और उधमपुर जिलों के डिप्टी कमिश्नर (DC) को पत्र भेजकर वहां के सरकारी स्कूलों का नाम बदलने को कहा गया था। जम्मू के डिवीजनल कमिश्नर ने अपने पत्र में कहा कि ‘वेरिफिकेशन के बाद इस तरह की डिटेल तैयार करने के लिए जिला स्तर पर एक कमेटी का भी गठन किया जायेगा।

आपको बता दें की स्कूलों का नाम बदलकर शहीदों के नाम करने के लिए बनाई गई कमेटी में SSP/ADC/DPO या AC पंचायत या सेना के प्रतिनिधि होंगे। जिला स्तर पर इस सूची को फाइनल करने के लिए इस कमेटी उपर्युक्त सभी लोगों को शामिल किया जा सकता है।

 

बुआ दित्ता सिंह के नाम पर रखा गया जम्मू-कश्मीर के स्कूल का नाम

जम्मू-कश्मीर के स्कूल का नाम बुआ दित्ता सिंह के नाम पर रख कर नाम बदलने की शुरुआत हो गई। जम्मू के कठुआ जिले में गवर्नमेंट हायर सेकेंडरी स्कूल चांदवान का नाम बदलकर शहीद सिपाही बुआ दित्ता सिंह (Bua Ditta Singh) स्कूल कर दिया गया है। आपको बता दें की बुआ दित्ता सिंह ने 1948 में जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में LOC पर दुश्मनों से लोहा लेते हुए अपने प्राणों की आहुति दे दी थी। उन्हें वीर चक्र से पुरस्कृत किया गया था।

Shaheed Sepoy Bua Ditta Singh govt. HR. School Chandanwan Kathua
Shaheed Sepoy Bua Ditta Singh govt. HR. School Chandanwan Kathua

 

ये भी पढ़े…
जानिए कौन है कश्मीरी अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी जिसकी मौत पर पाकिस्तान में पसरा मातम 
ISKCON Temple की पूरी जानकारी | जानिए हिन्दू सभ्यता को पूरी दुनिया में फ़ैलाने वाला ISKCON Temple kya hai?
जानिए क्या है प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना
कई बार मुस्लिम आक्रांताओं द्वारा तोड़े गए मथुरा के कृष्ण जन्मभूमि मंदिर का असली इतिहास 
जानिए कौन है अहमद मसूद? जिसने पंजशीर में तालिबान को घुसने नहीं दिया 
Social Share Buttons and Icons powered by Ultimatelysocial